पर्यावरण अध्ययन ( Environmental studies ) व पर्यावरण एवं सतत विकास ( Environment and Sustainable Development ): आगामी CTET, UPTET, व अन्य विषय संबंधी समस्त परीक्षाओं हेतु उपयोगी

दोस्तों आज हम पर्यावरण अध्ययन ( Environmental studies ) पर्यावरण एवं सतत विकास ( Environment and Sustainable Development ) के महत्वपूर्ण नोट्स साझा करने जा रहे हैं। इन नोट्स की हेल्प से आप आगामी CTET, TET, UPTET, व शिक्षकों की भर्ती परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे।
  1. देश की प्राकृतिक पूंजी में सम्मिलित किए जाते हैं– वन, जल तथा खनिज
  2. वे संसाधन, जो हमें प्रकृति द्वारा प्रदत्‍त होते हैं, कहलाते हैं – प्राकृतिक पूंजी अथवा प्राकृतिक संसाधन
  3. वर्ष 1972 में आयोजित किया गया था –स्‍टॉकहोम अंतरराष्‍ट्रीय शिखर सम्‍मेलन
  4. ‘विश्‍व पर्यावरण दिवस’ मनाया जाता है – 5 जून को
  5. सौर विकिरण की सबसे महत्‍वपूर्ण भूमिका है – जल चक्र में
  6. राष्‍ट्रीय पर्यावरण अभियांत्रिकी शोध संस्‍थान (NEERI) अवस्थित है – नागपुर में
  7. NEERI कार्य करता है – विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधीन
  8. सतत विकास के लिए आवश्‍यक है – जैविक विविधता का संरक्षण, प्रदूषण का निरोध एवं नियंत्रण तथा निर्धनता को घटाना
  9. पृथ्‍वी शिखर सम्‍मेलन का योजन किया गया था –रियो में
  10. संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ द्वारा पर्यावरा एवं सतत विकास पर पहला पृथ्‍वी शिखर सम्‍मेलन आयोजित किया गया – वर्ष 1992 में रियो डी जनेरिया (ब्राजील) में
  11. पृथ्‍वी सम्‍मेलन में 21वीं सदी के लिए पर्यावरणीय विकास हेतु कार्यक्रम निर्धारित किए गए। इन कार्यक्रमों को नाम दिया गया – एजेंडा-21
  12. रियो-20 घोषणा पत्र का शीर्षक था – द फ्यूचर वी वांट
  13. पृथ्‍वी के चारों ओर गैसों के समूह को कहते हैं –वायुमंडल
  14. वायु है, एक – मिश्रण
  15. नाइट्रोजन (78%), ऑक्‍सीजन (21%), ऑर्गन (0.93%), कार्बन डाइऑक्‍साइड (0.038%), इत्‍यादि गैसें पाई जाती हैं  – वायुमंडल(Atmisphere) में
  16. नोबल गैसों में से वह गैस जो वायु में नहीं पाई जाती है – रेडॉन
  17. वातावरण में सर्वाधिक प्रतिशत है – नाइट्रोजन का Environmental Science
  18. यदि पृथ्‍वी पर पाई जाने वाली वनस्‍पतियां (पेड़-पौधे) समाप्‍त हो जाएं, तो वह गैस जिसकी कमी होगी – ऑक्‍सीजन
  19. वह कार्य जो पेड़ पौधों का नहीं है – वायु का प्रदूषण
  20. पृथ्‍वी के कार्बन चक्र में कार्बन डाईऑक्‍साइड की मात्रा को नहीं बढ़ाता है – प्रकाश संश्‍लेषण
  21. अपक्षय का विचार संबंधित है –एक प्राकृतिक क्रिया से जो चट्टानों को सूक्ष्‍म कणों में विभक्‍त करती है
  22. विश्‍व मौसम विाान संगठन का मुख्‍यालय अवस्थित है – जेनेवा में
  23. विश्‍व मौसम विज्ञान अभिसमय (World Meteorogical Convention) लागू हुआ –23 मार्च, 1950 को
  24. यू.एन.ई.पी. का मुख्‍यालय अवस्थित है – नैरोबी में
  25. संयुक्‍त राष्‍ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP-United Nations Environment Programme) की स्‍थापना हुई थी – वर्ष 1972 में
  26. UNEP के वर्तमान प्रमुख हैं – एरिक सोल्‍हेम
  27. EPA का पूर्ण रूप है – इन्‍वायरमेंटल प्रोटेक्‍शन एजेंसी
  28. EPA (Environmental Protection Agency) संयुक्‍त राष्‍ट्र अमेरिका की संघीय एजेंसी है, जिसकी स्‍थापना की गई थी – 2 दिसंबर, 1970 को
  29. E.A. से आशय है  – नेशनल इन्‍वायरमेंट अथॉरिटी Environmental Science
  30. सतत् विकास लक्ष्‍य’, 2017 के सूचकांक में भारत का स्‍थान है – 116वां 
  31. र्षा की मात्रा निर्भर करती है – वायुमंडल में नमी पर
  32. जलमंडल, स्‍थलमंडल, जैवमंडल तथा जीवोम में से पृ‍थ्‍वी का सर्वाधिक बृहद पारिस्थितिक तंत्र है – जैवमंडल
  33. नेशनल ग्रीन ट्रिब्‍यूनल (एन.जी.टी.) की भारत सरकार द्वारा स्‍थापना की गई थी – वर्ष 2010 में
  34. पर्यावरण से अभिप्राय है – भूमि, जल, वायु, पौधों एवं पशुओं की प्राकृतिक दुनिया जो इनके चारों ओर अस्त्‍तत्‍व में है। उन संपूर्ण दशाओं का योग जो व्‍यक्ति को एक समय बिन्‍दु पर घेरे हुए होती है। भौतिक, जैविकीय एवं सांस्‍कृतिक तत्‍वों की अंत:क्रियात्‍मक व्‍यवस्‍था जो अंत:संबंधित होती है।
  35. पृथ्‍वी पर पाए जाने वाले भूमि, जल, वायु, पेड़-पौधों एवं जीव-जंतुओं का समूह जो हमारे चारों ओर है, सामूहिक रूप से कहलाता है – पर्यावरण
  36. पर्यावरण किसी जीव के चारों तरफ घिरे भौतिक एवं जैविक दशाएं एवं उनके साथ अंत:क्रिया को सम्मिलित करता है – पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम, 1986 की परिभाषा के अनुसार।
  37. पर्यावरणीय सुरक्षा से संबंध नहीं है – गरीबी कम करने का
  38. भारत में पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम पारित हुआ – वर्ष 1986 में
  39. पर्यावरण बनता है – जीवीय घटकों, भू-आकृतिक घटकों, तथा अजैव घटकों से
  40. पर्यावरण के कुछ कारक संसाधन के रूप में कार्य करते हैं तथा कुछ कारक कार्य करते हैं -नियंत्रक के रूप में Environmental Science
  41. धारणीय विकास के उपयोग के संदर्भ में अंतर-पीढ़ीगत संवेदनशीलता का विषय है – प्राकृतिक संसाधन
  42. विकास की वह अवधारणा जिसके तहत वर्तमान की आवश्‍यकताओं के साथ-साथ भविष्‍य की आवश्‍यकताओं को भी ध्‍यान में रखाता है – धारणीय विकास
  43. वर्ष 2002 में जोहॉन्‍सबर्ग में आयोजित पृथ्‍वी सम्‍मेलन का मुख्‍य मुद्दा था – सतत विकास
  44. संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ ने सतत विकास लक्ष्‍यों (Sustainable Development Goals-SDGS) का निर्धारण किया है, वे हैं कुल – 17
  45. सतत विकास लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने की प्रगति की दिशा में विभिन्‍न देशों द्वारा किए गए प्रयासो की प्रगति जानने हेतु निर्माण किया गया है – सस्‍टेनेबल डेवलपमेंट इंडेक्‍स का
  46. ग्रीन पीस इंटरनेशलन का मुख्‍यालय अवस्थित है – एम्‍सटर्डम में
  47. ‘इकोमार्क’ उन भारतीय उत्‍पादों को दिया जाता है, जो – पर्यावरण के प्रति मैत्रीपूर्ण हों
  48. ब्‍यूरो ऑफ इंडियन स्‍टैंडर्ड्स द्वारा वर्ष 1991 से दिया जा रहा है – ‘इकोमार्क’ प्रमाण पत्र
  49. पर्यावरण अनुकूल उपभोक्‍ता-उत्‍पादों को चिन्हित करने के लिए सरकार ने आरंभ किया है – इकोमार्क
  50. धारणीय कृषि (Sustainable Agriculture) का अर्थ है – भूमि का इस प्रकार प्रयोग कि उसकी गुणवत्‍ता अक्षुण्‍ण बनी रहे Environmental Science


  51. मित्रों यह नोट्स का पहला पार्ट है। अगले पार्ट की हमारी वेबसाइट पर बने रहें।

पर्यावरण अध्ययन ( Environmental studies ) व पर्यावरण एवं सतत विकास ( Environment and Sustainable Development ): आगामी CTET, UPTET, व अन्य विषय संबंधी समस्त परीक्षाओं हेतु उपयोगी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master