कोरोना संक्रमण की दहशत के बीच खुले विद्यालय

कोरोना की दहशत के बीच तकरीबन चार महीने बाद सोमवार से यूपी बोर्ड के स्कूल खुल गए। पहले दिन पूरे स्कूल परिसर और कक्षाओं को सेनिटाइज कराया गया। प्रधानाचार्यों ने शिक्षकों के साथ बैठक कर प्रवेश, ऑनलाइन क्लासेस आदि विषयों पर चर्चा की। प्रवेश प्रक्रिया भी शुरू हो गई।
Uptet help , primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet
राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डीके सिंह ने बताया कि पहले दिन 5-6 छात्रों ने कक्षा 11 में प्रवेश लिया है। 65 प्रतिशत से अधिक अंक वालों को गणित, 60 प्रतिशत वालों को बायो और उससे कम पाने वाले छात्रों को कला वर्ग में दाखिला दिया जा रहा है। 12 जुलाई को शिक्षक अभिभावक संघ की बैठक बुलाई गई है।

एसआरएन के पास स्थित जीजीआईसी की प्रधानाचार्या डॉ. इन्दु सिंह ने बताया कि मूल्यांकन के दौरान ही सेनिटाइजेशन और थर्मल स्कैनिंग मशीन खरीदी थी, जिसकी मदद से पूरे परिसर को सेनिटाइज किया और स्टाफ की जांच की गई। उसके बाद पूरे स्टाफ ने मिलकर कोरोना महामारी खत्म होने की प्रार्थना की ताकि बच्चे स्कूल आ सकें। प्रधानाचार्य ने शिक्षिकाओं के साथ बैठक कर ऑनलाइन क्लासेस, प्रवेश आदि पर विचार किया। पहले दिन 15-16 दाखिले भी हुए। यहां 11 जुलाई को शिक्षक अभिभावक संघ की बैठक होगी।

पहले दिन पहुंचे बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव

बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल सोमवार को पहले दिन कार्यालय पहुंचे। उन्हें 30 जून को अतिरिक्त प्रभार दिया गया था। दो दिन पहले लखनऊ में ज्वाईनिंग हुई थी।

कोरोना संक्रमण की दहशत के बीच खुले विद्यालय Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master