Primary Ka Master : बीएड की फर्जी डिग्री पर नौकरी कर रहे दो शिक्षक बर्खास्त, एफआईआर दर्ज कराकर वेतन रिकवरी के आदेश

लखीमपुर खीरी : :  बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी अभिलेखों के सहारे नौकरी हासिल करने के मामले में दो और शिक्षकों को बर्खास्त किया गया है। दोनों शिक्षकों की तैनाती सदर ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय भरतपुर और मितौली क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय जमुनिया ग्रंट में थी। बीएसएफ बुद्ध प्रिया सिंह ने दोनों शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश संबंधित ब्लॉकों के बीईओ को दिए हैं। दोनों बर्खास्त शिक्षकों से वेतन की रिकवरी करने की कार्रवाई भी की जाएगी। डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के बीएड सत्र 2004-05 में फर्जी एवं टेंपर्ड प्रमाण पत्र धारक अभ्यर्थियों का मानव संपदा पोर्टल से मिलान करके उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए शासन ने इस मामले की जांच एसआईटी से कराई थी। एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में आगरा विश्वविद्यालय के तहत एसएफ एजुकेशन शिकोहाबाद से बीएड सत्र 2004-05 में जारी बीएड प्रमाण को फेक करार दिया था, जिसके बाद 2823 अभ्यर्थियों पर कार्रवाई शुरू हो गई थी।
बीएसए ने बताया कि जनपद में 342 संदिग्ध अभिलेखों वाले अध्यापकों की सूची उपलब्ध कराई गई थी, जिसमें लखीमपुर ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय भरतपुर में तैनात प्रधानाध्यापक पुष्पा देवी निवासी छाउछ का नाम भी क्रमांक 616 पर शामिल था। शिक्षिका ने 28 अगस्त 2010 को कार्यभार ग्रहण किया था। जांच में आरोपों की पुष्टि होने के बाद नोटिस देकर जवाब मांगा गया, लेकिन शिक्षिका निर्धारित समय पर साक्ष्य सहित जवाब प्रस्तुत नहीं कर सकी। दूसरे शिक्षक ओमप्रकाश सिंह की तैनाती मितौली क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय जमुनिया ग्रंट में थी। इस शिक्षक का नाम भी एसआईटी द्वारा तैयार की गई फर्जी छात्रों की सूची में ৪ 91 क्रमांक पर शामिल पाया गया। बीएसए ने बताया कि इस शिक्षक ने भी 2004-05 में जेएस कॉलेज आफ एजूकेशन शिकोहाबाद फिरोजाबाद की फर्जी बीएड डिग्री पर विशिष्ट बीटीसी चयन 2008 में नौकरी हासिल कर ली थी। प्रशिक्षण के बाद ओमप्रकाश सिंह को प्राथमिक विद्यालय जमुनिया ग्रंट में तैनाती मिली थी। बीएसए ने बताया कि शिक्षक को नोटिस देकर ठोस साक्ष्य सहित जवाब मांगा था, लेकिन शिक्षक ने अपने पक्ष में कोई साक्ष्य प्रस्तुत नहीं कर सका। इसके बाद दोनों शिक्षकों की सेवा नियुक्ति की तिथि से शून्य कर दी गई है।

एफआईआर दर्ज कराकर वेतन की रिकवरी के आदेश

लखीमपुर के भगवानपुर और मितौली के जमुनिया ग्रंट में थी तैनाती

"दोनों शिक्षकों के खिलाफ संबंधित थानों में एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश बीईओ को दिए हैं। दोनों शिक्षकों को दिए गए वेतन की रिकवरी की जाएगी, जिसके लिए आगणन किया जा रहा है।

-बुद्ध प्रिय सिंह, बीएसए
Primary ka master | basic shiksha news | updatemart | basic shiksha | up basic news | basic shiksha parishad | basic news | primarykamaster| uptet primary ka master | update mart | Primary ka master com

Primary Ka Master : बीएड की फर्जी डिग्री पर नौकरी कर रहे दो शिक्षक बर्खास्त, एफआईआर दर्ज कराकर वेतन रिकवरी के आदेश Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master