• Breaking News

    UP Board : यूपी बोर्ड में पढ़ाई और परीक्षा दोनों का पैटर्न बदला : हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं को मिलेगी प्रश्नमाला

    प्रयागराज : यूपी बोर्ड में पढ़ाई और परीक्षा दोनों का पैटर्न बदल चुका है। हाईस्कूल व इंटर में पहुंचने वाले करीब 50 लाख से अधिक परीक्षार्थियों के सामने यह सवाल रहता है कि आखिर वे क्या और कैसे पढ़ें? मेधावी तो सब कुछ पढ़कर अच्छे अंक ले आते हैं लेकिन, औसत व सामान्य से कम मेधा वालों की समस्या दूर करने के लिए यूपी बोर्ड ने कदम बढ़ाया है। मुख्य विषयों की प्रश्नमाला तैयार की जा रही है। हंिदूी विषय से उसकी शुरुआत हो चुकी है, जल्द ही अन्य विषयों की प्रश्नमाला वेबसाइट पर अपलोड होगी।
    Uptet help , primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet
    माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) एक परीक्षा पूरी होने के साथ ही अगली परीक्षा की तैयारियों में जुट जाता है। भले ही अभी स्कूल-कालेज नहीं खुल सके हैं फिर भी घर-बैठे छात्र-छात्रओं की पढ़ाई का इंतजाम हो रहा है। बोर्ड हाईस्कूल व इंटर परीक्षा के अहम विषयों की प्रश्नमाला तैयार करा रहा है। इसमें उसी तरह से सवाल होंगे जिस तरह से परीक्षा में पूछे जाते हैं, इससे परीक्षार्थियों को तैयारी में सहूलियत रहेगी। ज्ञात हो कि बोर्ड अब हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा एक प्रश्नपत्र पर ही करा रहा है, इसमें एक भी पेपर गड़बड़ होने पर उसका असर पूरे रिजल्ट पर पड़ता है इसलिए तैयारी बेहतर होना जरूरी है। परीक्षार्थी तैयारी के लिए बाजार से पिछले वर्षो के मॉडल पेपर खरीदकर पहले तैयारी करते रहे हैं लेकिन, बदलाव के बाद वे मॉडल पेपर परीक्षार्थियों के लिए उपयोगी नहीं है।

    इसके अलावा सीबीएसई के पाठ्यक्रम की किताबों में उदाहरणों की संख्या भी पहले के यूपी बोर्ड पाठ्यक्रम की अपेक्षा कम है। इसलिए प्रश्नमाला से सभी को सुविधा मिलेगी। विषय विशेषज्ञ तेजी से इसे बनाने में जुटे थे लेकिन, पाठ्यक्रम को घटाने का प्रस्ताव तैयार करने की वजह से प्रश्नमाला तैयार होने में समय लग रहा है। बोर्ड जल्द ही इसे वेबसाइट पर अपलोड कराएगा, ताकि सभी उसे देखकर बेहतर तैयारी कर सकें और अच्छे अंकों से परीक्षा उत्तीर्ण करें। पिछले वर्ष बोर्ड ने 30 सितंबर को मॉडल पेपर अपलोड कराए थे, इस बार यह कार्य पहले ही पूरा कराने की तैयारी है। बोर्ड के प्रभारी सचिव दिव्यकांत शुक्ल का कहना है कि जल्द ही यह कार्य पूरा होगा और प्रश्नमाला जारी की जाएगी।