• Breaking News

    BEO 2019 : बीईओ परीक्षा का एक और सॉल्वर हुआ गिरफ्तार, 30 हजार रूपये में हुई थी बात, फर्जी प्रवेश पत्र बरामद, सरगना की हो रही तलाश

    प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा रविवार को आयोजित खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) परीक्षा में एक और सॉल्वर गिरफ्तार हुआ है। उसे धूमनगंज पुलिस ने झलवा स्थित परीक्षा केंद्र से पकड़ा। पूछताछ में पता चला कि उससे 30 हजार रुपये में सौदा तय हुआ था। आरोपित ने पांच हजार रुपये एडवांस भी लिया था। उसके पास से मोबाइल, फर्जी प्रवेश पत्र बरामद हुआ है। जिस अभ्यर्थी की जगह वह बैठा था, उसकी तलाश की जा रही है।

    बीईओ परीक्षा के लिए गुरु माधव प्रसाद शुक्ला बालिका इंटर कालेज एडीए कालोनी झलवा को भी परीक्षा केंद्र बनाया गया था। परीक्षा शुरू होने पर एक परीक्षार्थी को लेकर प्रधानाचार्य को कुछ संदेह हुआ। उन्होंने इसकी सूचना कार्यवाहक थाना प्रभारी धूमनगंज ऋतुराज और चौकी प्रभारी राजरूपपुर चंद्रभानु यादव को दी। खबर पाते ही पुलिस परीक्षा केंद्र पर पहुंची। संदिग्ध परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र व पहचान पत्र की जांच की गई तो वह फर्जी
    निकला। पूछताछ में उसने अपना नाम सर्वेश दुबे पुत्र जगन्नाथ दुबे निवासी बद्री आवास योजना रसूलाबाद तेलियरगंज थाना शिवकुटी बताया। कहा कि वह संजय कुमार पुत्र मुरली लाल निवासी किराव थाना सोरांव के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। उसे पांच हजार रुपये दिए गए थे। शेष 25 हजार रुपये बाद में मिलने थे। पुलिस ने सर्वेश दुबे और संजय कुमार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की। कार्यवाहक थाना प्रभारी ने बताया कि सर्वेश दुबे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है। फरार आरोपित संजय कुमार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने उसके घर दबिश दी, लेकिन वह भागा हुआ है। उसका मोबाइल भी स्विच ऑफ है।

    एसटीएफ को भी कर दिया गुमराह : चिन्यम विद्यालय रसूलाबाद परीक्षा केंद्र से रविवार को भी एक सॉल्वर को पकड़ा गया था। एसटीएफ को उसने अपना नाम सुधीर पटेल पुत्र राममिलन पटेल निवासी टुड़ियार श्रीकपूरा थाना मेजा बताया था। एसटीएफ ने उसे और अभ्यर्थी धीरेंद्र कुमार पुत्र श्यामजी निवासी मवैया हंिदूुवानी सरायममरेज थाना हंडिया को शिवकुटी पुलिस को सौंप दिया था। इंस्पेक्टर शिवकुटी महेश सिंह ने कड़ाई से पूछताछ की तो सुधीर ने कहा कि उसका असली नाम सुनील पाल पुत्र दशरथ पाल निवासी बभनी थाना मेजा है। इंस्पेक्टर ने बताया कि दोनों को जेल भेज दिया गया है।