• Breaking News

    शिक्षक बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाने के लिए ट्राइपॉड के साथ पहुंचे स्कूल

    कोरोना काल में यूपी बोर्ड की ओर से जारी शैक्षणिक कैलेंडर के अनुसार मंगलवार से एक बार फिर ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हो गई। बच्चों को ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई के लिए कई शिक्षक अपने साथ ट्राइपॉड और दूसरे गैजेट लेकर पहुंचे थे ताकि ब्लैकबोर्ड पर पढ़ाने में दिक्कत न हो। प्रधानाचार्यों ने पहले ही समय सारिणी बना दी है। शिक्षकों को हिदायत भी दी गई है कि निर्धारित समय पर ही पाठ्यसामग्री अपलोड करें तथा उक्त समय पर ऑनलाइन उपलब्ध रहें। शिक्षक गूगल मीट, माइक्रोसॉफ्ट एवं अन्य माध्यमों से ऑनलाइन पढ़ाने के साथ ही व्हाट्सएप और यू-ट्यूब पर वीडियो भी अपलोड कर रहे हैं ताकि अधिक से अधिक बच्चों तक पहुंचा जा सके। 
    राजकीय इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल डीके सिंह और राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्या डॉ. इन्दु सिंह ने टाइम टेबल के अनुसार शिक्षकों से ऑनलाइन क्लास लेने के निर्देश दिए हैं। शिवचरणदास कन्हैयालाल इंटर कॉलेज में ऑनलाइन शिक्षण प्रारंभ होने से पूर्व विद्यालय के प्रधानाचार्य लालचंद पाठक ने ऑनलाइन शिक्षण प्रणाली, स्वयं प्रभा चैनल, डीडी यूपी चैनल से संबंधित जानकारियों को साझा किया। ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन में किसी भी प्रकार की तकनीकी दिक्कत न आए इसके लिए कमेटी गठित की है जिसमें महेंद्र सिंह पटेल, केके शुक्ला, ज्ञान प्रकाश सिंह तथा विश्वनाथ मिश्र को शामिल किया गया है। 

    वशिष्ठ वात्सल्य स्कूल ने ली ऑनलाइन परीक्षा 
    यूपी बोर्ड से मान्यता प्राप्त वशिष्ठ वात्सल्य पब्लिक स्कूल ने ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की। ऑनलाइन टेस्ट में प्रत्येक छात्र के पास अलग-अलग आईडी और अलग-अलग पासवर्ड थे। परीक्षा सुबह 9 बजे शुरू हुई जिसमें पीयूष केसरवानी के निर्देशन में तकनीकी टीम ने यह सुनिश्चित किया कि प्रत्येक विद्यार्थी ऑनलाइन परीक्षा में उपस्थित हो। शिक्षकों ने परीक्षा को सफल बनाने के लिए प्रधानाचार्या नलिनी सिंह के साथ दिन-रात काम किया। प्रधानाचार्या नलिनी सिंह ने आश्वासन दिया कि जब तक नियमित कक्षाएं शुरू नहीं होती तब तक ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी। कहा कि वशिष्ठ वात्सल्य पब्लिक स्कूल अर्द्धवार्षिक परीक्षा भी ऑनलाइन लेने के लिए तैयार है।