New Education Policy : नई शिक्षा नीति से वसुधैव कुटुंबकम का भाव, लक्ष्य उत्पादक व्यक्ति करें तय

प्रयागराज : कुलभास्कर आश्रम पीजी कॉलेज व राष्ट्रीय खेल उत्थान परिषद के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय खेल दिवस एवं हॉकी के जादूगर मेजर ध्यान चंद की जयंती पर वेबिनार हुआ। मुख्य अतिथि जबलपुर स्थित रानी दुर्गावती विवि के प्रो. कपिल देव मिश्र ने कहा, नई शिक्षा नीति से खेल एवं शारीरिक शिक्षा में बहुमुखी विकास, स्वावलंबी, राष्ट्र निर्माण व मल्टीपल लाभ संग वसुधैव कुटुंबकम का भाव पैदा होगा।
मुंबई विवि से बासन्ती कादि रवन ने कहा कि खेलो इंडिया फीट इंडिया ने योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान दी है। प्रो. अभिमन्तु सिंह ने कहा नई शिक्षा नीति गेम चेंजर के रूप में काम करेगी। अमेरिका से डॉ. वैशाली ने कहा शारीरिक शिक्षा शिक्षा का एक अंग है। सऊदी अरब से प्रो. राकेश तोमर, नेपाल से सुलोचना सिजाखवा ने विचार व्यक्त किए।

वेबिनार के आयोग सचिव डॉ. पीके पचौरी ने खेल, शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण आदि क्षेत्रों में पुरस्कार/फेलोशिप दी।

नई शिक्षा नीति का लक्ष्य उत्पादक व्यक्ति तय करें

जासं, प्रयागराज : इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज एंड एजुकेशन प्रयागराज एवं एमिटी यूनिवर्सटिी लखनऊ के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर वेबिनार हुआ। सत्र का शुभारंभ अपर निदेशक बेसिक शिक्षा व प्राचार्य आइएएसई प्रयागराज ललिता प्रदीप ने किया। कहा कि नई शिक्षा नीति का उद्देश्य उत्पादक व्यक्ति तैयार करें। एमिटी यूनिवर्सटिी की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. ऋचा रघुवंशी, आइएएसई से दरख्शां आब्दी व कोलकाता विवि की एसोसिएट प्रो. डॉ. सुदेशना लाहिरी, स्मिता जायसवाल, डॉ. जयंती श्रीवास्तव ने विचार रखे।

New Education Policy : नई शिक्षा नीति से वसुधैव कुटुंबकम का भाव, लक्ष्य उत्पादक व्यक्ति करें तय Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master