• Breaking News

    Primary Ka Master : शिक्षक स्कूल ले गए किताबें, मद में आई धनराशि विभाग में डंप, शिक्षकों ने की भाड़े की मांग

    फतेहपुर में ब्लाक संसाधन केंद्रों से परिषदीय स्कूलों तक किताबें पहुंचाने के लिए भाड़े के नाम पर अभी तक बेसिक शिक्षा विभाग ने एक धेला भुगतान नहीं किया है। जबकि इस मद में आई आठ लाख का बजट अभी तक डंप है। ब्लाक संसाधन केंद्रों से स्कूलवार शिक्षकों को किताबें आवंटित कर भेजी गई हैं। अब तक 81 प्रतिशत किताबें शिक्षक स्कूल में पहुंचा चुका है।
    जिले में संचालित 2,650 परिषदीय स्कूलों में कक्षा एक से लेकर आठ तक पंजीकृत दो लाख 38 हजार बच्चों को मुफ्त में देने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने 17 लाख 58 हजार 613 किताबें खरीदी हैं। जुलाई महीने में आईं 81 फीसदी किताबें शिक्षकों के माध्यम से स्कूल भेजी जा चुकी हैं। इस महीने के पहले सप्ताह में सात प्रतिशत किताबें और आई हैं। इनका शुक्रवार को सत्यापन कराया गया है। यह 10 अगस्त को ब्लाक संसाधन केंद्र भेज दी जाएंगी।

    चालू सत्र में पहली बार सर्व शिक्षा अभियान के तहत ब्लाक संसाधन केंद्रों से स्कूल तक किताबें भेजने के लिए बीईओ (ब्लॉक एजूकेशन ऑफिसर) को जिम्मेदारी दी गई है। इसके लिए सभी 13 बीईओ के खाते में स्कूल तक किताबें पहुंचाने का भाड़ा आठ लाख की धनराशि भेजी गई है। शिक्षकों के मोबाइल में मैसेज भेजकर उन्हें ब्लाक संसाधन केंद्र भेजकर किताबें आवंटित की गई हैं। शिक्षक बाइकों से बोरियों में भरकर किताबें स्कूल ले गए हैं। ऐसे में वह भाड़े की मांग कर रहे हैं।