• Breaking News

    Rojgar Updates : असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू, अभ्यर्थियों से मांगे मोबाइल नंबर

    प्रदेश के अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर समाजशास्त्र के लिए चयनति अभ्यर्थियों की नियुक्ति के लिए काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके लिए मुख्य सूची और प्रतीक्षा सूची के सभी अभ्यर्थियों से उनके उनके संशोधित मोबाइल नंबर मांगे गए हैं।
    यह प्रक्रिया पूरी होते ही ऑनलाइन काउंसलिंग का कार्यक्रम जारी कर दिया जाएगा। संशोधित मोबाइल नंबर उपलब्ध कराने की अंतिम तिथि 21 अगस्त निर्धारित की गई है। असिस्टेंट प्रोफेसर समाजशास्त्र के रिक्त 273 पदों के लिए चयन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। काउंसलिंग के बाद इन खाली पदों पर अभ्यर्थियों की नियुक्ति कर दी जाएगी।
    इस बार मुख्य काउंसलिंग में प्रतीक्षा सूची के अभ्यर्थियों को भी शामिल किया जा रहा है, जबकि पहले केवल मुख्य सूची के चयनित अभ्यर्थियों को ही काउंसलिंग में शमिल किया जाता था और अगर कोई अभ्यर्थी काउंसलिंग में अनुपस्थित होता था तो उसके कारण पद रिक्त होने पर प्रतीक्षा सूची के अभ्यर्थियों की अलग से काउंसलिंग कराई जाती थी।
    इस प्रक्रिया में काफी वक्त लगता था। लेकिन, अब निदेशालय ने व्यवस्था बदल दी है। मुख्य काउंसलिंग के दौरान अगर कोई अभ्यर्थी शामिल नहीं होता है तो उसकी अनुपस्थिति के कारण रिक्त रह गए पद पर प्रतीक्षा सूची के अभ्यर्थी के अभ्यर्थी की काउंसलिंग कराकर उसे कॉलेज आवंटित करते हुए नियुक्ति पत्र जारी कर दिया जाएगा। इस प्रक्रिया से समय की बचत होगी और सभी पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया निर्धारित समय में पूरी हो जाएगी। इसके साथ ही काउंसलिंग में पारदर्शिता आएगी।

    यही वजह है कि समाजशास्त्र के चयनित अभ्यर्थियों से संबंधित डाटा फीड करने में निदेशालय को इस बार थोड़ा अधिक वक्त लेना पड़ा। यह काम अब पूरा हो चुका है और मुख्य सूची एवं प्रतीक्षा सूची के अभ्यर्थियों से उनके संशोधित मोबाइल नंबर मांग लिए गए हैं।

    संयुक्त शिक्षा निदेशक उच्च शिक्षा डॉ. राजीव पांडेय की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि यदि किसी अभ्यर्थी के आवेदन पत्र में उल्लिखित मोबाइल नंबर बंद हो गया है या अभ्यर्थी का मोबाइल नंबर बदल गया है तो वह अपना नया मोबाइल नंबर ई-मेल आईडी ayog.472019@gmail.com पर निर्धारित प्रारूप में 21 अगस्त तक उपलब्ध करा देे, ताकि संबंधित अभ्यर्थी काउंसलिंग में शामिल हो सके।

    निर्धारित तिथि के बाद कोई संशोध स्वीकार नहीं होगा। निदेशालय ने संशोधित मोबाइल नंबर इसलिए मांगे हैं, क्योंकि काउंसलिंग से लेकर नियुक्ति पत्र जाीर होने तक सभी सूचनाएं अभ्यर्थियों के मोबाइल नंबर पर ही भेजी जाएंगी। अभ्यर्थियों को निर्धारित प्रारूप के तहत रैंक (ओपन), नाम, रोल नंबर, विषय, पुराने मोबाइल नंबर और संशोधित मोबाइल नंबर की जानकारी देनी है।