• Breaking News

    योगी सरकार का दावा : योगी राज में प्रदेश में हुईं 2.94 लाख भर्तियां, बेसिक शिक्षा विभाग में 69000

     सरकारी विभागों में भर्तियों में लेटलतीफी पर युवाओं की नाराजगी को देखते हुए सरकार हरकत में आ गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी विभागों में तीन महीने में भर्ती प्रक्रिया शुरू करके छह माह में अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दे देने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने सभी विभागों से एक सप्ताह में रिक्त पदों का ब्यौरा उपलब्ध कराने को कहा है। सरकारी विभागों में भर्ती को रफ्तार देने के लिए मुख्यमंत्री 21 सितंबर को आयोगों व भर्ती बोर्डों के प्रमुखों के साथ बैठक भी करेंगे।

    primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet

    सरकार की ओर से दावा किया गया है कि मार्च 2017 से अब तक प्रदेश में 2,94,080 पदों पर भर्तियां की गई हैं जबकि  85629 भर्तियां प्रक्रियाधीन हैं।अब तक हुई बड़ी सरकारी भर्तियों में एक लाख 37 हजार 253 पुलिस की भर्ती हो चुकी है। इसके अलावा बेसिक शिक्षा विभाग में 54706, लोक सेवा आयोग के माध्यम से 26103, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन केअंतर्गत 28622, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में समूह ख, ग व घ में 8556, प्रविधिक व व्यावसायिक शिक्षा विभाग में 365, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से 16708, सहकारिता विभाग में 726, चिकित्सा शिक्षा विभाग में 1112, माध्यमिक शिक्षा विभाग में 14000, वित्त विभाग में 614, उच्च शिक्षा विभाग में 4615 तथा नगर विकास विभाग में 700 पदों पर भर्तियां की गई हैं। बेसिक शिक्षा विभाग में 69000 तथा पुलिस विभाग में 16629 पदों पर भर्ती प्रक्रियाधीन है।
    सरकारी विभागों में भर्तियों के लटके  रहने और पांच वर्ष संविदा पर नियुक्ति के प्रस्ताव के विरोध में बृहस्पतिवार को प्रदेश भर में बेरोजगार युवाओं के जबरदस्त विरोध प्रदर्शन के बाद शुक्रवार को योगी सरकार भर्ती प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ाने के लिए सक्रिय हो गई। सुबह टीम-11 की बैठक में मुख्यमंत्री ने सभी सरकारी विभागों में रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्त्रिस्या शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य सचिव सहित सभी अपर मुख्य सचिवों तथा प्रमुख सचिवों को एक सप्ताह में रिक्त पदों का पूरा विवरण उपलब्ध कराने को कहा है।
    उन्होंने इस कार्य को तेजी से आगे बढ़ाते पर जोर देते हुए अगले तीन महीने में भर्ती की प्रक्रिया को प्रारंभ करते हुए छह माह में चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान करने को कहा है। उन्होंने पारदर्शिता के साथ और निष्पक्ष ढंग से भर्ती प्रक्रिया को संचालित करने के  निर्देश दिए।

    आयोगों व भर्ती बोर्डों के प्रमुखों के साथ बैठक 21 को
    भर्ती प्रक्रिया को समयबद्ध ढंग से पूरी कराने के लिए मुख्यमंत्री 21 सितंबर को खुद आयोगों व भर्ती बोर्डों के प्रमुखों के साथ बैठक करेंगे। इस बैठक में प्रदेश की विभिन्न भर्ती संस्थाओं के प्रमुखों के  साथ चयन परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में कार्ययोजना तैयार की जाएगी। बैठक में विभिन्न विभागों द्वारा आयोगों व भर्ती बोर्डों को विभिन्न पदों पर चयन के लिए भेजे गए प्रस्तावों पर कार्रवाई की प्रगति की समीक्षा भी की जाएगी।