• Breaking News

    Lt Grade Teachers Bharti : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 का रास्ता हुआ साफ़, वेबसाइट तैयार, नियुक्ति जल्द

     प्रयागराज : उप्र लोकसेवा आयोग की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 में हंिदूी व सामाजिक विज्ञान विषय का रिजल्ट देने में अभियुक्तों की ओएमआर शीट बड़ा आधार बनी। पेपर लीक इन्हीं विषयों में होने का आरोप लगा। साथ ही कुछ अंतराल के बाद प्रिंटिंग प्रेस मालिक और फिर आयोग की तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक की गिरफ्तारी से मामला खिंचता रहा। गिरफ्तारियों के बाद आयोग के हाथ बंध गए, वह बिना चार्जशीट दाखिल हुए रिजल्ट देने का ऐलान नहीं कर सकता था।

    primary ka master, primary ka master current news, primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet


    यूपीपीएससी ने 29 जुलाई 2018 को 10768 पदों के लिए एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा कराई। उसी दिन के बाद पेपर लीक होने का आरोप लगा। यह भी दावा किया गया कि हंिदूी व सामाजिक विज्ञान विषय का पेपर लीक हुआ है। एसटीएफ ने जांच शुरू की तो 50 अभ्यर्थियों को निशाने पर लिया। इससे परीक्षा परिणाम रोक दिया गया। मार्च 2019 में पहला परिणाम जारी हुआ और फिर सात विषयों के रिजल्ट आए। आयोग अध्यक्ष ने आरोपित अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट की जांच कराई तो उसमें पेपर लीक के चिन्ह नहीं मिले, क्योंकि पेपर लीक होने पर उन सभी को उम्दा अंकों से उत्तीर्ण होना चाहिए था लेकिन ओएमआर शीट कुछ और ही कह रही थी। उसी बीच एक के बाद एक गिरफ्तारी हुई तो परीक्षा संस्था ने एसटीएफ की जांच रिपोर्ट आने का इंतजार किया। आरोपित अभ्यर्थियों में से कुछ को अभियुक्त व गवाह बनाया गया है। उनका परिणाम इसीलिए रोका जा रहा है कि पहले फैसला आ जाए। अब हंिदूी में 1433 व सामाजिक विज्ञान में 1854 पदों का रिजल्ट अगले सप्ताह घोषित होगा। इन पदों के लिए हंिदूी में 60 व सामाजिक विज्ञान में करीब 80 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे।

    वेबसाइट तैयार, नियुक्ति जल्द

    एलटी ग्रेड के 15 में से 13 विषयों का परिणाम घोषित हो चुका है और उनकी नियुक्ति ऑनलाइन आवेदन लेकर होगी। अपर शिक्षा निदेशक राजकीय अंजना गोयल ने बताया कि नियुक्ति के लिए वेबसाइट तैयार हो गई है, जल्द ही आवेदन लेने का कार्यक्रम जारी किया जाएगा। नियुक्ति किस तरह देनी है इस संबंध में शासनादेश जारी हो चुका है।