PRIMARY KA MASTER : सरकारी स्कूलों के आए ‘अच्छे दिन’, खूब मिल रहे नए एडमिशन, बढ़ी छात्र संख्या

कोरोना काल में लोगों पर आर्थिक संकट आया तो वह खर्च में कटौती करने लगे। इसका असर भी दिखने लगा है। कई लोग अपने बच्चों को कान्वेंट स्कूलों से निकालकर सरकारी स्कूलों में दाखिला दिला रहे हैं। ऐसे में सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ी है। इसमें जिन सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम की कक्षाएं चल रही हैं और स्मार्ट क्लास की भी व्यवस्था है, वहां ज्यादा बच्चों ने प्रवेश लिया है।
जीआइसी के प्रधानाचार्य देवेंद्र सिंह बताते हैं कि सत्र 2019 में कक्षा छह में 161 विद्यार्थी थे। इसी तरह कक्षा सात में 196, आठ में 286, नौ में 756, दस में 717, 11 में 1291 और 12 में 947 विद्यार्थी पंजीकृत थे। विद्यालय में कुल छात्रों की संख्या पिछले वर्ष 4336 थी, जो इस बार 4546 हो गई है। इसी तरह केपी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. योगेंद्र सिंह ने बताया कि पिछले सत्र में कुल 1063 विद्यार्थी थे, 1302 हो गए हैं। जीजीआइसी की प्रधानाचार्य इंदू सिंह के मुताबिक कान्वेंट स्कूलों की कई छात्रओं ने उनके यहां दाखिला कराया है।

मिल रहा स्मार्ट कक्षाओं का लाभ

शिवचरण दास कन्हैंया लाल इंटर कॉलेज (खत्री पाठशाला) में सत्र 2015 से स्मार्ट कक्षाएं चल रही हैं। प्रधानाचार्य लालचंद्र पाठक कहते हैं कि कोरोना काल में विद्यालय में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ी है। यहां चलने वाली स्मार्ट कक्षाओं और अंग्रेजी माध्यम की कक्षाओं के कारण छात्रों की संख्या में वृद्धि हुई है।

PRIMARY KA MASTER : सरकारी स्कूलों के आए ‘अच्छे दिन’, खूब मिल रहे नए एडमिशन, बढ़ी छात्र संख्या Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master