SHIKSHAMITRA : शिक्षामित्रों के डाटा फीडिंग कार्य में बीईओ बने लापरवाह, लटका मानदेय

परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षामित्रों के डाटा फीडिंग कराने में बीडीओ कार्यालय लापरवाह बना हुआ है। इसके लिए बीईओ को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। डाटा फीडिंग होने से शिक्षामित्रों का दो महीने से मानदेय भुगतान नहीं हो सका है। बीजेपी की ढिलाई से आजिज आकर शिक्षामित्र खुद डाटा फीडिंग में सहयोग करारहे हैं। जिले के भदैयां और जयसिंहपुर ब्लॉक के शिक्षामित्रों के डाटा फीडिंग की रिपोर्ट आने देरी हो रही है। इसके लिए खण्ड शिक्षाधिकारियों की ओर से ढिलाई बरती जा रही है। दो ब्लॉकों की डाटा फीडिंग की रिपोर्ट के इंतजार में शिक्षामित्रों का दो महीने का मानदेय अटका रहेगा। आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के मीडियाप्रभारी सुतीक्ष्ण तिवारी ने कहा कि शिक्षामित्रों के मानदेय भुगतान के लिए बीईओ दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारियों की ओर से शिक्षामित्रों के मानदेय भुगतान में उदासीनता बरती जा रही है।
जिलाध्यक्ष दिनेश चंद्रा ने कहा कि अगर शीघ्र ही डाटा फीडिंग कराकर मानदेय का भुगतान नहीं किया गया तो संगठन कड़ा कदम उठाने को विवश होगा। महामंत्री प्रदीप यादव ने बताया कि दो ब्लॉकों का डाटा फीडिंग की रिपोर्ट मंगाई गई है।

रामयश यादव सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी एसएसए ने बताया कि दो ब्लॉकों के शिक्षामित्रों की डाटा फीडिंग की रिपोर्ट नहीं आने से मानदेय भुगतान अधर में लटका हुआ है। रिपोर्ट आने के दो दिन में मानदेय का भुगतान करा दिया जाएगा। अनुदेशकों का डाटा फीडिंग आख्या बीआरसी से आने के बाद उनके मानदेय भुगतान का बिल जिला कोषागार को भेजा गया है। अनुदेशकों ने बीआरसी से पैरबी कर डाटा फीडिंग में सहयोग किया। सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी सर्वशिक्षा अभियान ने बताया कि मानदेय रामयश यादव बिल ट्रेजरी से पास है।

SHIKSHAMITRA : शिक्षामित्रों के डाटा फीडिंग कार्य में बीईओ बने लापरवाह, लटका मानदेय Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master