• Breaking News

    योगी सरकार का कीर्तिमान: बेसिक शिक्षा में 1.37 लाख पदों पर भर्ती, बेसिक शिक्षकों की भर्ती के लिए अब देनी होगी लिखित परीक्षा

     बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक भर्ती में शैक्षिक मेरिट पर चयन होता रहा है। इसमें बह अभ्यर्थी भी आसानी से शिक्षक बनने में सफल हो जाते रहे, जो नकल या फिर अन्य माध्यम से अच्छे अंकों हासिल कर लेते थे। इससे योग्य युवाओं में निराशा होती थी। सरकार ने निर्णय लिया कि बेसिक शिक्षकों की भर्ती के लिए उन्हें अब लिखित परीक्षा देनी होगी। 


    पहली बार 68500 सहायक अध्यापक भर्ती के लिए प्रदेश में लिखित परीक्षा कराई गई। यह परीक्षा ओएमआर आधारित नहीं थी, बल्कि हर परीक्षार्थी को उसका लिखकर जबाब देना पड़ा। इससे यह देखा गया कि प्रतियोगी में लिखने की कितनी क्षमता है। इस भर्ती में अब तक 47 हजार से अधिक शिक्षकों की नियुक्ति हो चुकी है और सैकड़ों अभ्यर्थी नियुक्ति पाने की दौड़ में हैं। 


    अगले वर्ष 2019 में सरकार ने 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती की लिखित परीक्षा कराई। भर्ती में कटऑफ अंक के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना शेष है। 

    इसके अलावा 12460 भर्ती में एक तिहाई पदों पर चयन हो चुका है। 1.37 लाख पदों की भर्ती शिक्षामित्रों के समायोजित शिक्षक पद से हटाने के बाद घोषित की गई थी। शासन अब रिक्त पदों का ब्योरा जुटा रहा है।