• Breaking News

    स्कूल खुलने के दो हफ्ते तक परीक्षा नहीं, उपस्थिति और अवकाश में लचीला रुख अपनाएं: शिक्षा मंत्री

     अनलॉक-5 के तहत 15 अक्तूबर से स्कूलों को फिर से खोलने के लिए शिक्षा मंत्रालय ने सोमवार को दिशानिर्देश जारी किए। इसमें कहा गया है कि स्कूलों में दो से तीन हफ्ते तक कोई परीक्षा नहीं ली जाएगी। साथ ही ऑनलाइन प्रशिक्षण को प्रोत्साहित किया जाता रहेगा। मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से अपनी स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार स्वास्थ्य एवं सुरक्षा सावधानियों के आधार पर मानक परिचालन प्रक्रिया बनाने को भी कहा है।


    स्कूलों को क्रमिक तरीके से पुनः खुलने के लिए जारी दिशानिर्देशों में मंत्रालय ने स्कूल परिसर को पूरी तरह साफ और संक्रमणमुक्त करने के लिए कहा है। स्कूलों को सभी क्षेत्रों, फर्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, पानी के टैंक,रसोईघर, कैंटीन, शौचालय, प्रयोगशाला, पुस्तकालय की पूरी तरह सफाई और उन्हें संक्रमणमुक्त करने की व्यवस्था करनी होगी। स्कूल के भीतरी परिसर में स्वच्छ हवा का प्रवाह सुनिश्चित करना होगा।


    शिक्षा मंत्रालय ने सिफारिश की है कि स्कूलों को उपस्थिति व अस्वस्थता अवकाश संबंधी नीतियों में लचीलापन लाना चाहिए। छात्र माता-पिता की लिखित सहमति से ही स्कूल आ सकते हैं। छात्र चाहे तो स्कूल के बजाय ऑनलाइन कक्षाएं करते रह सकते हैं। अनलॉक के ताजा निर्देशों के अनुसार निषिद्ध क्षेत्रों के बाहर स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान 15 अक्तूबर के बाद फिर से खोले जा सकते हैं।