• Breaking News

    बच्चों को मोहल्ला-मोहल्ला जाकर शिक्षित करेंगे बेसिक के गुरूजी

     गौरीगंज (अमेठी)। कोविड संक्रमण कॉल में प्रभावित हो रही परिषदीय स्कूलों की शिक्षण व्यवस्था बेहतर बनाने के लिए बीएसए ने अनोखी पहल की है। उन्होंने स्मार्ट फोन न होने से ऑनलाइन शिक्षण में बच्चों को हो रही परेशानी को देखते हुए मोहल्ला पाठशाला कार्यक्रम शुरू कराया है। इसके तहत गुरुजी अब अपने स्कूल में पंजीकृत बच्चों के मोहल्लों में जाकर पढ़ाने के साथ मोहल्ले में भी बच्चों को जुटाकर पढ़ाएंगे।


    कोरोना संक्रमण के चलते बंद पड़े स्कूल व स्मार्ट फोन न होने से पंजीकृत बच्चों का शिक्षण कार्य प्रभावित हाते देख बीएसए विनोद कुमार मिश्र ने मोहल्ला पाठशाला कार्यक्रम शुरू किया है। इसके तहत जिले में संचालित सभी प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों के शिक्षक स्कूल में पंजीकृत बच्चों की सूची तैयार कर उन्हें उनके मोहल्ले में जाकर पढ़ाएंगे।
    शिक्षक प्रतिदिन मोहल्ला-मोहल्ला जाकर बच्चों को पढ़ाते हुए उन्हें होमवर्क देकर दूसरे दिन उसका मूल्यांकन करेंगे। इतना ही नहीं एक मोहल्ले में एक बच्चा होने पर उसे उसके घर पर तो एक से अधिक बच्चे होने पर उन्हें एक स्थान पर जुटाकर सोशल डिस्टेंसिंग के तहत शिक्षित करेंगे। प्रतिदिन शिक्षण कार्य के बाद गुरुजी बीईओ को अपनी रिपोर्ट फोटोग्राफ्स के साथ व्हाट्सएप ग्रुप पर भेजेंगे।
    इसके लिए बीएसए विनोद कुमार मिश्र ने सभी बीईओ को पत्र जारी कर मोहल्ला पाठशाला कार्यक्रम के तहत बच्चों को शिक्षित करने के साथ ही प्रतिदिन रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है।