• Breaking News

    68 रिक्तियों के सापेक्ष 560 शिक्षकों का हुआ था तबादला:- विजिलेंस जांच में तबादला पाने वाले शिक्षकों की भी खुल सकती फाइलें

     सुल्तानपुर। पूर्व बेसिक शिक्षा परिषद सचिव संजय सिन्हा की मुश्किलें जिले से भी बढ़ सकती हैं। संजय सिन्हा ने बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव पद पर रहते हुए जनपद में रिक्त 68 पदों के सापेक्ष 560 अध्यापकों का तबादला कर दिया था। 135 शिक्षकों के तबादले पर भी उन्होंने अपना अनुमोदन दिया था। विजिलेंस जांच में तबादला पाने वाले शिक्षकों की फाइलें भी खुल सकती हैं।


    संजय सिन्हा के बेसिक शिक्षा परिषद सचिव रहते 135 शिक्षकों के तबादले उनके मनचाहे विद्यालयों में हुए थे। तबादलों में अनियमितता के आरोप लगे थे। शिकायतों के बाद शासन की ओर से हुई जांच में संजय सिन्हा को दोषी करार दिया गया है।

    प्रदेश भर के लगभग 1000 अध्यापकों के स्थानांतरण का अनुमोदन किए जाने तथा कई जनपदों में मृतक आश्रित के रूप में अभ्यर्थियों की अनियमित नियुक्ति व अनियमित चयन का अनुमोदन किए जाने की शिकायतें प्रमाणित हो जाने पर संजय सिन्हा को शासन ने निलंबित कर दिया है।
    निलंबन के साथ ही बेसिक शिक्षा की विशेष सचिव डॉ. काजल को जांच अधिकारी बनाया गया है। संजय सिन्हा के विरुद्ध विभागीय जांच के साथ-साथ विजिलेंस जांच कराने का भी निर्णय शासन ने लिया है। विजिलेंस जांच में तबादला पाए शिक्षकों की फाइलें भी खुल सकती हैं।
    पूर्व में भी इस प्रकरण में जिले से पत्रावली शासन ने तलब की थीं। संजय सिन्हा ने जूनियर हाईस्कूलों में रिक्त 49 सहायक अध्यापकों व प्राथमिक विद्यालय के 19 प्रधानाध्यापकों के सापेक्ष 560 अध्यापकों का तबादला गैर जनपदों से सुल्तानपुर के लिए कर दिया था।
    जब शिक्षक यहां आए तो ज्वॉइनिंग को लेकर कई दिनों तक बवाल चलता रहा। इस तबादले की वजह से हजारों की संख्या में शिक्षकों की पदोन्नति पीछे हो गई है। इसको लेकर शिक्षक आवाज उठाते रहे हैं।
    पटल सहायकों की भी विजिलेंस जांच
    अनियमित तरीके से अध्यापकों के तबादले पर अनुमोदन देने के प्रकरण में बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय के पटल सहायकों की भी विजिलेंस जांच होगी। अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने विजिलेंस जांच कराए जाने का निर्देश जारी किया है।
    198 शिक्षकों का हुआ म्युचुअल ट्रांसफर
    बीएसए के प्रस्ताव पर तत्कालीन बेसिक शिक्षा परिषद सचिव संजय सिन्हा ने 198 शिक्षकों का म्युचुअल ट्रांसफर करने का अनुमोदन दिया था। स्कूल शिक्षा के महानिदेशक विजय किरण आनंद की जांच में यह बिंदु भी शामिल किया गया था। इसकी सूचना सुल्तानपुर बीएसए से मंगाई गई थी।
    भेजी गई वांछित सूचना
    पूर्व बेसिक शिक्षा परिषद सचिव संजय सिन्हा के प्रकरण में कई बार शासन की ओर से सूचनाएं मंगाई गई थीं। सूचनाओं को समय-समय पर भेजा गया है। सूचना के साथ ही वांछित पत्रावलियां भी भेजी गई हैं।

    - दीवान सिंह यादव, बीएसए।

    Primary ka master, primary ka master current news, Primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet