• Breaking News

    स्कूलों में अगस्त से शुरू हो सकती है कक्षा 9 से 12 तक की ऑफलाइन पढ़ाई

     लखनऊ। कोरोना की दूसरी लहर थमने के बाद माध्यमिक शिक्षा विभाग अगस्त से ऑफलाइन पढ़ाई की शुरुआत करने पर विचार कर रहा है। पहले चरण में कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों की पढ़ाई शुरू होगी। इसके लिए विभाग छात्रों के अभिभावकों से सहमति मांग रहा है। स्कूलों को सहमति पत्र का प्रोफार्मा और लिंक उपलब्ध करा दिया गया है। जल्द ही शिक्षा विभाग शासन को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा।


    कोरोना संक्रमण नियंत्रित होते ही ऑनलाइन चल रही शिक्षण व्यवस्था को फिर से ऑफलाइन पद्धति पर लाने की कवायद शुरू हो गई है। परिस्थितियां इसी तरह से और सामान्य होती चली गईं तो अगस्त से माध्यमिक विद्यालयों में ऑफलाइन पढ़ाई शुरू हो जाएगी। पहले चरण में कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों की ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने के लिए बोर्ड अभिभावकों के मन की बात जानने में जुटा है। उनसे ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने पर सहमति मांग रहा है। यूपी बोर्ड के सभी स्कूलों को सहमति पत्र का प्रोफॉर्मा व लिंक भेजते हुए निर्देश दिए गए हैं कि वे अभिभावकों से जल्द सहमति लें। अभिभावकों का जो भी जवाब होगा उसे स्कूलों को लिंक पर अपलोड करना होगा। अमीनाबाद इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य साहब लाल मिश्रा ने बताया कि सोमवार को ही सहमति पत्र का प्रोफार्मा और निर्देश मिले। मंगलवार से शिक्षकों ने व्हाट्सएप ग्रुप पर अभिभावकों को सहमति पत्र भेजना शुरू किया है। जैसे ही अभिभावकों की तरफ से जवाब मिलेगा, उसे लिंक पर अपलोड कर लिया जाएगा।

    शासन को भेजा जाएगा प्रस्ताव
    सभी स्कूलों से सहमति पत्र की रिपोर्ट लेकर माध्यमिक शिक्षा विभाग स्कूल में पठन-पाठन शुरू कराए जाने का प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजेगा। शासन सारी स्थितियों व हालातों पर नजर रखते हुए निर्णय लेगा। स्थितियां सामान्य रहीं तो अगस्त से ऑफलाइन पढ़ाई शुरू कर दी जाएगी। साथ में ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी, ताकि कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो सके।
    गत वर्ष अक्तूबर से शुरू हुई थी ऑफलाइन पढ़ाई
    गत वर्ष भी मार्च में स्कूल बंद हो गए थे और लॉकडाउन लग गया था। इसके बाद अक्तूबर के अंतिम सप्ताह से कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों की ऑफलाइन पढ़ाई शुरू की गई थी। इस बार भी मार्च से ही स्कूल बंद हैं और छात्रों की ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। इस बार अगस्त से ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने की कवायद की जा रही है।