• Breaking News

    अब टीईटी का पात्रता प्रमाण पत्र आजीवन रहेगा मान्य, बार-बार परीक्षा पास करने जा झंझट खत्म

     नई दिल्ली : कोरोना संकटकाल में केंद्र सरकार ने छात्रों को एक और बड़ी राहत दी है। इसके तहत शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के प्रमाण पत्र की वैधता अब आजीवन रहेगी। यानी एक बार इस पात्रता को हासिल कर लेने के बाद छात्र जीवन भर शिक्षक की नौकरी के लिए पात्र रहेगा। अब तक टीईटी के पात्रता प्रमाण पत्र की वैधता सिर्फ सात वर्षो की ही थी। इसके बाद छात्र को पात्रता के लिए फिर से परीक्षा देनी होती थी।



    शिक्षा मंत्रलय ने गुरुवार को एनसीटीई (नेशनल काउंसिल आफ टीचर एजुकेशन) की इस सिलसिले में सिफारिश को मंजूरी दे दी। एनसीटीई ने पिछले साल अक्टूबर में अपने बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया था। साथ ही प्रस्ताव को मंजूरी के लिए मंत्रलय को भेजा था। मंत्रलय ने इस बीच सभी राज्यों से चर्चा के बाद इसे मंजूरी दे दी है। साथ ही वर्ष 2011 से इसे लागू करने के निर्देश दिए हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर फैसले को शिक्षण के क्षेत्र में करियर बनाने वाले छात्रों के लिए लाभदायी बताया है। जिन छात्रों की इस समयावधि में पात्रता खत्म हो गई है, उन्हें नए सिरे से पात्रता के प्रमाण पत्र जारी किए जाएं। संबंधित खबर 5


    Primary ka master, primary ka master current news, Primarykamaster, basic siksha news, basic shiksha news, upbasiceduparishad, uptet