• Breaking News

    50 हजार विद्यार्थी होंगे प्रोन्नत, मुविवि कार्य परिषद की बैठक में प्रोन्नत करने का तय किया गया फार्मूला

    प्रयागराज : उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रथम और द्वितीय वर्ष के शिक्षार्थियों को बगैर परीक्षा अगली कक्षा में प्रोन्नत करेगा। कोरोना संक्रमण को लेकर हालात सामान्य होने पर सितंबर अथवा अक्टूबर में अंतिम वर्ष की वार्षकि और सेमेस्टर परीक्षाएं कराई जाएंगी। जल्द ही शैक्षणिक कैलेंडर भी जारी कर दिया जाएगा। यह निर्णय पिछले दिनों हुई कार्य परिषद की बैठक में लिया गया।
    विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने केवल अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने का निर्देश दिया है। इसी क्रम में मुविवि कार्यपरिषद की बैठक में प्रथम व द्वितीय वर्ष के शिक्षार्थियों को सर्वसम्मति से प्रोन्नत करने का फार्मूला तय हुआ है। मुविवि से जुड़े प्रदेश भर के तकरीबन 50 हजार से अधिक शिक्षार्थी प्रोन्नत किए जाएंगे। सर्टििफकेट, डिप्लोमा और पीजी डिप्लोमा की परीक्षाएं सामान्य स्थिति होने पर कराई जाएंगी। बीए, बीएससी, बीकॉम, एमए, एमएससी और एमकॉम प्रथम और द्वितीय वर्ष के परीक्षार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया जाएगा।

    अगली कक्षा की परीक्षा में जो अंक मिलेगा, उसी आधार पर छात्रों को पिछले वर्ष के लिए अंक दिया जाएगा। विश्वविद्यालय प्रशासन अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 25 अगस्त से कराने की तैयारी में था। हालांकि शैक्षणिक संस्थानों के खुलने पर पाबंदी के चलते अभी इस पर फैसला नहीं लिया जा सका।

    यूजीसी और प्रदेश सरकार के निर्देश के क्रम में प्रथम और द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को प्रोन्नत किया जाएगा। अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराई जाएंगी। जल्द ही कार्यक्रम जारी कर दिया जाएगा।

    - प्रो. कामेश्वर नाथ सिंह, कुलपति, उत्तर प्रदेश राजर्ष िटंडन मुक्त विवि