• Breaking News

    घर-घर दवा बांटने से संक्रमित हो रहे शिक्षक, संक्रमण की स्थिति भयावह, शिक्षिक व शिक्षामित्र भयभीत

    वाराणसी : सनत कुमार सिंह उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ काशी विद्यापीठ के जिला वरिष्ठउपाध्यक्ष एवं  अध्यक्ष सनत कुमार सिंह ने मांग किया है कि कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्ति वउनके परिवार के लोगों को दवा वितरित करने वाले शिक्षक व शिक्षामित्र कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे है ऐसे में उन्हें उक्त ड्यूटी से मुक्त किया जाय। उन्होने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते पिछले दस दिनों से नगर क्षेत्र के अलावां ग्रामीण क्षेत्र के शिक्षकों एवं शिक्षा मित्रों द्रारा भी शासन के  निर्देशानुसार नगर क्षेत्र में जाकर डोर टू डोर वायरस से संक्रमित परिवार को आईवर मेक्टिन दवा वितरण का कार्य संपादित किया जा रहा है।
    वर्तमान स्थिति में संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए उन्हें आवश्यक सुरक्षा कीट उपलब्ध कराने हेतु संघ द्वारा मांग की गई जिस पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह द्वारा ड्यूटी क्षेत्र में जाकर शिक्षकों को मास्क व सेनीटाइजर वितरित किया गया।



    संक्रमण की स्थिति भयावह, शिक्षिक व शिक्षामित्र भयभीत

    वाराणसी । सनत कुमार सिंह जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं अध्यक्ष उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ काशी विद्यापीठ वाराणसी ने बताया कि संघ की मांग है कि कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्ति व उनके परिवार के लोगों को दवा वितरित करने वाले शिक्षक/शिक्षामित्र कोरोनावायरस से संक्रमित हो रहे हैं ऐसे में उन्हें उक्त ड्यूटी से मुक्त किया जाय। सनत कुमार सिंह ने बताया कि कोरोनावायरस संक्रमण के चलते ] अगस्त 2020 से नगर क्षेत्र के अलावां ग्रामीण क्षेत्र के शिक्षकों एवं शिक्षा मित्रों द्वारा भी शासन के निर्देशानुसार नगर क्षेत्र में जाकर डोर टू डोर वायरस से संक्रमित परिवार को आई वर मेक्टिन दवा वितरण का कार्य संपादित किया जा रहा है। वर्तमान
    स्थिति में संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए उन्हें आवश्यक सुरक्षा कीट उपलब्ध कराने हेतु संघ द्वारा समाचार पत्रों के माध्यम से मांग की गई जिस पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्री राकेश सिंह द्वारा ड्यूटी क्षेत्र में जाकर शिक्षकों को मास्क व सेनीटाइजर वितरित किया गया और डोर टू डोर ड्यूटी के बजाय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ही ड्यूटी संपादित किए जाने के संबंध में उनके द्वारा जिलाधिकारी को प्रस्ताव भेजने की बात कही गई,जिसका संगठन सराहना करता है। संक्रमण की भयावह स्थिति को देखते हुए शिक्षक व शिक्षामित्र काफी भयभीत हैं। सनत कुमार सिंह ने बताया कि वर्तमान समय में स्थिति चिंताजनक ही नहीं चुनौतीपूर्ण भी है और ऐसे समय में शिक्षक व शिक्षामित्र द्वारा साहस व पूरी निष्ठा से कोरोना वारियर्स के रूप में कार्य संपादित किया जा रहा है। संघ की मांग है कि शिक्षकों और शिक्षा मित्रों को स्वास्थ्य संबंधी ड्यूटी से मुक्त किया जाए यदि संभव ना हो तो सभी को स्वास्थ्य कर्मियों की भांति सुरक्षा कीट व अन्य सुविधा प्रदान कर शिक्षकों व शिक्षा मित्रों को भी कोरोना वारियर्स घोषित करते हुए डोर टू डोर दवा वितरण के बजाय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ही दवा वितरण का कार्य संपन्न कराया जाना निहायत जरूरी है। कोरोना संबंधी ड्यूटी के तहत कोरोनावायरस संक्रमण से संक्रमित परिवार को दवा वितरण कार्य में लगे शिक्षकों एवं शिक्षामित्रों को ड्यूटी से मुक्त कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर दवा वितरण कराया जाए।