• Breaking News

    Primary Ka Master : प्राथमिक स्कूलों में हर दो सप्ताह में टेस्ट होगा, इसके आधार पर किया जाएगा उपचारात्मक शिक्षण

    बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों के छात्र-छात्राओं का अब हर दो सप्ताह में यूनिट टेस्ट होगा। शासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा की ओर से शैक्षणिक कार्यो के लिए समय अवधि और कार्य निर्धारण के संबंध में सभी खंड शिक्षाधिकारियों को भेजे आदेश के अनुसार प्रत्येक पखवाड़े में होने
    वाले इंटरनल टेस्ट के आधार पर उपचारात्मक शिक्षण किया जाएगा। प्रत्येक दिन कक्षावार एवं विषयवार प्रोजेक्ट/गृह कार्य बच्चों को अवश्य दिए जाएं एवं अगले दिन उसका आकलन किया जाए। छात्र-छात्रा द्वारा अपेक्षित लर्निंग आउटकम प्राप्त किए जाने की तिथि को ही शिक्षक द्वारा प्रेरणा तालिका में प्रविष्टि अंकित की जाएगी। आमतौर पर मिड-डे-मील के बाद बच्चों की उपस्थिति कम हो जाती है, इसलिए इस पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है। शिक्षक किसी भी गैर शैक्षणिक कार्य, रैली, फेरी, बैंक आदि के कार्य को विद्यालय समय में नहीं करेंगे। किसी शिक्षक का निलंबन होने की दशा में अनुशासनिक कार्रवाई प्रत्येक दशा में एक माह के अंदर पूरी की जाएगी।