बेसिक स्कूल चमकाएंगे प्रवासी श्रमिक, पहले चरण में तीन महत्वपूर्ण कार्यो पर फोकस : Saharanpur

जिले के बेसिक स्कूलों के साथ ही प्रवासी मजदूरों के हालात भी सुधरेंगे। प्रवासी मजदूर ऑपरेशन कायाकल्प के तहत परिषदीय विद्यालयों को चमकाएंगे। इस दौरान वह चारदीवारी निर्माण करेंगे। साथ ही खेल मैदान भी दुरस्त करेंगे। इससे उन्हें जहां रोजगार मिलेगा, वहीं आथिर्क हालत भी दुरस्त होगी। शिक्षा विभाग ने ऐसे विद्यालयों के साथ ही संबंधित ब्लॉक के प्रवासी श्रमिकों को चिहिन्त करने में जुट गया है। जिले में 1355 प्राथमिक और 576 उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित है। कोरोना महामारी के परिणाम स्वरूप अन्य प्रदेशों से करीब नौ हजार प्रवासी मजदूर वापस आए। उन्हें ग्रामों में ही रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से तीव्र गति से कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं। इससे प्रवासी मजदूरों को रोजगार तो मिलेगा ही वहीं कायाकल्प के तहत मूलभूत सुविधाओं के साथ परिषदीय विद्यालयों के हालात भी सुधरेंगे। 

पहले चरण में तीन महत्वपूर्ण कार्यो पर फोकस किया गया है। इनमें चारदीवारी विहीन परिषदीय विद्यालयों में चारदीवारी एवं गेट निर्माण, विद्यालय के प्रांगण में या प्राथमिक विद्यालय या फिर खेल के मैदान के लिए आरक्षित भूमि में खेल के मैदान का विकास और विद्यालयों किचेन वाटिका की फेंसिंग शामिल हैं। इन सुविधाओं का सृजन ग्राम पंचायत की नियमों से मनरेगा के तहत किया जाएगा।
Primary ka master | basic shiksha news | updatemart | basic shiksha | up basic news | basic shiksha parishad | basic news | primarykamaster| uptet primary ka master | update mart | Primary ka master com 

बेसिक स्कूल चमकाएंगे प्रवासी श्रमिक, पहले चरण में तीन महत्वपूर्ण कार्यो पर फोकस : Saharanpur Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Primary ka Master